SPACEXSTN

Welcome to the world of factual information about space and universe. I hope you read my articles and if you have any questions and also want any other information related to my articles then comment down in comments section and if you like my work then please subscribe, share and do follow.
".

5 amazing fact about space | DARK MATTER | EXPANDING UNIVERSE | ENERGY OF THE SUN | THE WOW SIGNAL |

हमलोग जब रात को आसमान  के तरफ देखते है,मगर उतना अटेंशन में नहीं देख पाते जितना उसे मिलना चाहिए।
 
     फैक्ट आर्टिकल्स आप लोग को 5 ऐसी बात बताएगा अंतरिक्ष के बारे में जिसे देखने के बाद आप बोलोगे हमारा ब्रह्माण्ड यानि हमारा यूनिवर्स कितना अमेजिंग है

   1 :DARK MATTER:
                            सदियों से हम यही  सोचते आये है,की यह यूनिवर्स          यानि ब्रह्माण्ड उन्ही पदार्थो से बना  है जो हमें आम तोर पे दिखाई  देता  है.

     जैसे की इलेक्ट्रान,प्रोटोन्स,न्यूट्रोंस.पर साइंस तरक्की करती रह गई  और अब हमें यह पता चला है,की ब्रह्माण्ड सिर्फ इन्ही चीज़ो  से नहीं बनी है,जो आप लोग को दूर दूर तक दिखाई देती है जैसे चाँद,तारे,एस्टेरॉइड्स,प्लेनेट और इनफाइनाइट स्पेस। 

    यह ब्रह्माण्ड की सिर्फ 5  प्रतिशत है,बाकि 95  प्रतिशत तो डार्क मैटर और डार्क एनर्जी से बानी है.

    डार्क मैटर की ये प्रॉब्लम है की, हम उसे डायरेक्टली नहीं देख सकते। किसी साइंटिस्ट ने अभी तक इस मैटर को नहीं समझा पाया है.और यह अभी तक मिस्ट्री यानि रहस्य है. 

Click here:
                   
 2:EXPANDING UNIVERSE :
                                    साइंटिस्ट सदियों से यह पता करने की कोशिश कर रहे है ,की यह ब्रह्माण्ड कितना बड़ा है.पर कनक्लूज़न यह निकल के आता है,कि ब्रह्माण्ड का कोई अंत नहीं. 
   
    हालही टेक्नोलॉजी से हमें यह पता चला है की ब्रह्माण्ड का साइज 93 अरब प्रकाश वर्ष है.यानि 93 बिलियन लाइट ईयर है.neptune ke baare me jaan ne ke liye idhar Click kariye

    1929 में एडविन हबल ने यह पता किया कि यूनिवर्स एक्सपैंड हो रहा है,एक बोहोत ही फास्ट रेड से यह यूनिवर्स सिर्फ एक्सपैंड ही नहीं बल्कि एकसिलारेट भी हो रहा है। और इसकी एक्सपेंशन की गति  यानी रफ्तार हमेशा बढ़ती ही रहेगी।

    3:ENERGY OF THE SUN :
                             सूरज का साइज धरती से 109 गुना ज्यादा बड़ा है. पर सूरज इतना ऊर्जा पैदा करता है  जितना आप सोच भी नहीं सकते हो. 

A boy thinking about how photosynthesis work

            पेड़-पौधे फोटोसिंथेसिस के जरिये ऊर्जा पैदा करते है. अगर हम सारे पेड़ पौधो की एनर्जी को एक साथ जोड़ दे,तो हमें यह पता चलता है,की  मानव जाती के सुरु से लेके अंत तक जितनी पावर एनर्जी यूज़ होगी,उससे 6 गुना ज्यादा तो यह पेड़,सूरज की ऊर्जा यूज यानी उपयोग करते है।

    अगर हम सूरज से निकलती हुई 1 दिन की एनर्जी कलेक्ट करले तो उसे हम सालो  तक यूज़ कर सकते है.

      इसीलिए अब अलग अलग जगहों पे सोलर पैनल  है ताकि हम सूरज की इस चौका देनी वाली एनेर्जी की शक्ति को  हम ज्यादा से ज्यादा उपयोग कर सके। 

   
 FOR MORE SCIENTIFIC ARTICLES 
  CLICK HERE:

   4:THE WOW SIGNAL :
                                   
     ऐसी तरंगे जो शायद एलियन हमें भेज सके।  एक कंप्यूटर ने उन सारे नंबर यानी बाईनेरी कोड को और लेटर को स्टोर कर लिया। 

    जो वो तरंग में थी। फिर उस सिगनल  को अस्ट्रोनॉमर JERRY EHMAN ने देखा,और उन्हों ने कागज़ के साइड में सिर्फ एक शब्द लिखा और वोह शब्द था (WOW )

    यह घटना उन अस्ट्रोनॉमर को उतना उत्तेजित कर दिया था,की उसके बाद, सालो तक उस सिग्नल की उम्मीद की जा रही थी।

     पर उसदिन से लेके आज तक कोई सिगनल नहीं आया। यह भी अभी तक रहस्य बनी हुई है। 
The wow signal coming from space to eartg

   5:IF TWO  METAL TOUCH IN SPACE THEY FUSE :
अगर आप स्पेस में एक ही मेटल यानि धातु के दो पीसेस को ले जाओगे और अगर उसे एक बार के लिए सटा दोगे तो वो आपस में जुड़ जाएगी

     इस फेनोमिनल को हम कोल्ड वेल्डिंग कहते है। यह फेनोमिनल धरती पे हवा होने के कारण नहीं होती है क्यों की धरती पे 2 मेटल के बिच 1 ऑक्सीडाइज़ लेयर आ जाती है जो दोनों मेटल को जुड़ने से रोकती है।

 अगर आप वही स्पेस में करोगे तो दो धातु के टुकड़े जुड़ के एक कंटिन्युअस टुकड़े बन जाएंगे।


   दोस्तो ऐसे ही इंटरेस्टिंग और मजेदार आर्टिकल्स लेके आता रहूंगा। और आपको  किस टॉपिक पे आर्टिकल्स चाहिए यह हमें जरूर कमेंट पे बताये
   
Previous
Next Post »

2 comments

Click here for comments